डॉक्टर बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर  जीवनी ,शिक्षा,उपाधि

0
66

इस आर्टिकल के माध्यम से मै आपको संविधान निर्माता डॉक्टर बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर  के पूरी जीवनी के बारे में जानकारी देने वाला हू। पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए आप मेरे साथ इस आर्टिकल में अंत तक बने रहे हैं।

प्रस्तावना (डॉक्टर बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर )

प्रत्येक वर्ष 14 अप्रैल को संविधान निर्माता बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर की जयंती बड़ी धूमधाम के साथ पूरे भारतवर्ष में मनाई जाती है। उन्होंने भारत की आजादी के साथ साथ  संविधान बनाने में एक अभूतपूर्व योगदान प्रदान किया। डॉ. आंबेडकर ने देश के पिछड़े वर्ग के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण काम किए। यही कारण है कि हर वर्ष का 14 अप्रैल भारत में समानता दिवस और ज्ञान दिवस के रूप में भी मनाया जाता है।

डॉक्टर बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर का जीवन परिचय

डॉक्टर आंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1981 को मध्य प्रदेश के एक छोटे से गांव में हुआ था। जबकि इनका पूरा परिवार महाराष्ट्र के रत्नागिरी जिले से ताल्लुक रखता है। इनके माता जी का नाम भीमा बाई तथा पिताजी का नाम रामजी मालोजी सकपाल था। डॉक्टर अंबेडकर के पिता जी सेना में शिक्षक के रूप में सूबेदार थे। महार जाति का होने के कारण उन्हें बचपन से ही भेदभाव का सामना करना पड़ा।

डॉक्टर बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर की शिक्षा

जब आंबेडकर छोटे थे उस समय छुआछूत जैसी बीमारियां पूरी समाज में फैल चुकी थी। बचपन से ही आंबेडकर पढाई में बुद्धिमान थे। मुंबई के एलफिंस्टन रोड पर स्थित एक सरकारी स्कूल से अपना अध्ययन अध्यापन शुरू किया। बड़ा होने पर 1913 में आंबेडकर ने अमेरिका के कोलंबिया यूनिवर्सिटी से आगे की शिक्षा ग्रहण की।

डॉ बाबासाहेब आंबेडकर को मिली डॉक्टर की उपाधि

लंदन में पढ़ाई संपन्न करने के बाद वह स्वदेश वापस आ गए और यही मुंबई के सिडनेम में कॉलेज में प्रोफेसर के तौर पर काम करने लगे। 1923 में एक शोध कार्य पूरा करने के संदर्भ में लंदन यूनिवर्सिटी ने उन्हें डॉक्टर ऑफ साइंस की उपाधि दी। 

डॉ भीम साहेब आंबेडकर का कैरियर

डॉ आंबेडकर का संपूर्ण जीवन समाज में फैली हुई विषमताओं और   असमानता के बीच बीता। यही कारण रहा कि दलित समाज को अहम अधिकार देने के लिए उन्होंने बहुत प्रयत्न किया। आंबेडकर ने ब्रिटिश सरकार से ही पृथक निर्वाचन की मांग की थी जिसे मंजूरी भी दे दी गई थी लेकिन गांधीजी ने इसके विरोध में आमरण अनशन किया तो आंबेडकर ने अपनी मांग को वापस ले लिया।

बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर की उपलब्धियां

लेबर पार्टी का गठन बाबासाहेब आंबेडकर द्वारा ही किया गया था। काफी समय तक बाबासाहेब आंबेडकर संविधान समिति के अध्यक्ष भी बने रहे। बाबासाहेब राज्यसभा से दो बार सांसद चुने गए। मुंबई नॉर्थ सीट से देश का पहला आम चुनाव लड़ा लेकिन हार का सामना करना पड़ा। 6 दिसंबर 1956 को डॉ भीमराव अंबेडकर का निधन हो गया। उनके निधन के बाद साल 1990 में बाबासाहेब आंबेडकर को भारत का सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया।

डॉ आंबेडकर की प्रमुख रचनाएं और कृतियां

जाति का नाश

रुपए की समस्या इसकी उत्पत्ति और समाधान

Thoughts on Pakistan

पाकिस्तान या भारतवर्ष का विभाजन

कांग्रेसी और गांधी ने अछूतों के लिए क्या किया??

अछूत  वे कौन थे? और अछूत कैसे बने?

डॉक्टर भीमराव द्वारा स्थापित किए गए संगठनों के नाम

Independence labour party of India

अनुसूचित जाति फेडरेशन

भारतीय बौद्ध महासभा

बहिष्कृत हितकारिणी सभा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here